Top News





रिपोर्टर-विक्की राजपुरोहित। 
कोद /बदनावर। जब तक परमात्मा की कृपा न हो, हम विचार करने के लिए प्रस्तुत नहीं होते हैं। हम विचार कब करते हैं, जब समस्या कु छ ज्यादा ही बढ़ जाती है। हर रोज कु आं खोदकर पानी पीना बुद्धिमता नहीं होती है, वैसे ही अलग-अलग पूजा करना बुद्धिमता नहीं है। पत्तों में पानी देने से वृक्ष हरा-भरा नहीं होगा इसके लिए हमें उसकी जड़ में पानी देना पडेग़ा।




 ये विचार कोद के समीप अतिप्राचीन तीर्थ एवं पर्यटन स्थल कोटेश्वर महादेव धाम में शनिवार को श्रीमद् भागवत कथा के पहले दिन कैलाश मठ काशी के भागवताचार्य पं. आशुतोष नंदगिरीजी ने व्यक्त किए। डेढ़ से ढाई बजे तक उन्होंने कथा का वाचन किया। इसके साथ ही सात दिवसीय अष्टोत्तर शतकुडीय (108) श्रीअतिरुद्र महायज्ञ महोत्सव एवं कथा का आयोजन प्रारंभ हुआ। अंचल सहित दूरदराज क्षेत्र से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने धार्मिक आयोजन में भाग लेकर कथा श्रवण का लाभ किया। नजर निहाल आश्रम ओंकारेश्वर के संस्थापक यज्ञ एवं गुरु नर्मदानंदजी बापजी की निश्रा में सुबह हैमाद्री प्रयोग, प्रभु आव्हान, स्थापना आदि कार्यक्रम हुए।





धूमधाम से निकाली कलश यात्रा

इस दौरान नगर में कोटेश्वर महादेव धाम से आयोजन स्थल तक गंगाजल कलश यात्रा निकाली गई। मंडल स्थल पर जाकर विधिपूर्वक कलश की स्थापना की गई। 108 कुंडीय महायज्ञ के लाभार्थी यजमानों का भी तिलक लगाकर स्वागत कि या। दोपहर में कै लाश मठ काशी के भागवताचार्य पं. आशुतोष नंदगिरीजी श्रीमद् भागवत कथा का वाचन दोपहर डेढ़ से ढाई बजे एक घंटे तक किया। पं. आशुतोष ने कहा कि सभी देवताओं का समावेश अग्नि में है, इसलिए यहां अतिरुद्र महायज्ञ के माध्यम से सारे देवी-देवताओं का एक ही स्थान पर आव्हान कि या गया है। रविवार से अतिरुद्र महायज्ञ की शुरुआत होगी। सुबह छह बजे से शुभ मुहूर्त में महायज्ञ प्रारंभ होगा। आठ बजे गुुरु पादुका पूजन के बाद गाय के शुद्ध घी व शाकल्य से आहुतियां दी जाएंगी। दोपहर में डेढ़ घंटे का विश्राम रहेगा। शाम छह बजे महाआरती होगी।

कोटेश्वर में गंगाजल कलश यात्रा के साथ भागवत कथा शुरू, 108 कुंडीय अतिरुद्र महायज्ञ आज से





रिपोर्टर-विक्की राजपुरोहित
बदनावर। जब तक परमात्मा की कृपा न हो, हम विचार करने के लिए प्रस्तुत नहीं होते हैं। हम विचार कब करते हैं, जब समस्या कु छ ज्यादा ही बढ़ जाती है। हर रोज कु आं खोदकर पानी पीना बुद्धिमता नहीं होती है, वैसे ही अलग-अलग पूजा करना बुद्धिमता नहीं है। पत्तों में पानी देने से वृक्ष हरा-भरा नहीं होगा इसके लिए हमें उसकी जड़ में पानी देना पडेग़ा।





 ये विचार कोद के समीप अतिप्राचीन तीर्थ एवं पर्यटन स्थल कोटेश्वर महादेव धाम में शनिवार को श्रीमद् भागवत कथा के पहले दिन कैलाश मठ काशी के भागवताचार्य पं. आशुतोष नंदगिरीजी ने व्यक्त किए। डेढ़ से ढाई बजे तक उन्होंने कथा का वाचन किया। इसके साथ ही सात दिवसीय अष्टोत्तर शतकुडीय (108) श्रीअतिरुद्र महायज्ञ महोत्सव एवं कथा का आयोजन प्रारंभ हुआ। अंचल सहित दूरदराज क्षेत्र से बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने धार्मिक आयोजन में भाग लेकर कथा श्रवण का लाभ किया। नजर निहाल आश्रम ओंकारेश्वर के संस्थापक यज्ञ एवं गुरु नर्मदानंदजी बापजी की निश्रा में सुबह हैमाद्री प्रयोग, प्रभु आव्हान, स्थापना आदि कार्यक्रम हुए।




धूमधाम से निकाली कलश यात्रा

इस दौरान नगर में कोटेश्वर महादेव धाम से आयोजन स्थल तक गंगाजल कलश यात्रा निकाली गई। मंडल स्थल पर जाकर विधिपूर्वक कलश की स्थापना की गई। 108 कुंडीय महायज्ञ के लाभार्थी यजमानों का भी तिलक लगाकर स्वागत कि या। दोपहर में कै लाश मठ काशी के भागवताचार्य पं. आशुतोष नंदगिरीजी श्रीमद् भागवत कथा का वाचन दोपहर डेढ़ से ढाई बजे एक घंटे तक किया। पं. आशुतोष ने कहा कि सभी देवताओं का समावेश अग्नि में है, इसलिए यहां अतिरुद्र महायज्ञ के माध्यम से सारे देवी-देवताओं का एक ही स्थान पर आव्हान कि या गया है। आज से अतिरुद्र महायज्ञ की शुरुआत होगी। सुबह छह बजे से शुभ मुहूर्त में महायज्ञ प्रारंभ होगा। आठ बजे गुुरु पादुका पूजन के बाद गाय के शुद्ध घी व शाकल्य से आहुतियां दी जाएंगी। दोपहर में डेढ़ घंटे का विश्राम रहेगा। शाम छह बजे महाआरती होगी।

प्राचीन कोटेश्वर तीर्थ मे आज से 108 कुंडीय महायज्ञ व भागवत कथा का आयोजन।

1 लाख वर्ग फीट में पांडाल बनाया गया।

रिपोर्टर- मनोज कवि। 

बदनावर। प्रकृति की गोद में बसे सुरम्य एवं प्राचीनतम तीर्थ तथा महर्षि कण्व की तपोभूमि कहे जाने वाले कोटेश्वर तीर्थ मे बहुजन हिताय बहुजन सुखाय के उद्देश्य को लेकर 8 दिसंबर को होने वाले 108 कुंडीय श्री अतिरूद्र महायज्ञ महोत्सव की तैयारिया पूर्ण हो चुकी है। 8 दिवसीय महायज्ञ का समापन 15 दिसंबर को होगा। क्षेत्र में लंबे समय बाद इतने बडे स्तर पर यह आयोजन हो रहा है। इसी के साथ श्रीमद भागवत कथा होगी व स्वास्थ्य परीक्षण शिविर भी लगेगा। 

नजर निहाल आश्रम ओकारेश्वर के नर्मदानंदजी महाराज की प्रेरणा से आयोजित इस महोत्सव में 8 दिसंबर को हेमाद्री प्रयोग क्लश यात्रा एवं 9 दिसंबर को यज्ञ आंरभ होगा। 12 दिसंबर को बटुक उपनयन संस्कार भी रखा गया है। 

आयोजन के बारे मे नर्मदानंदजी महाराज ने बताया कि यह यज्ञ त्रिवेणी महोत्सव है। जिसके अंतर्गत आत्म कल्याण के लिए यज्ञ, शरीर के लिए स्वास्थ्य शिविर तथा ज्ञान के लिए भागवत ज्ञान गंगा का आयोजन किया गया है। कोटेश्वर एक परम पावन धाम है और यहां किया गया यज्ञ मालवा के पर्यावरण के साथ-साथ सर्वजन कल्याण में सहायक होगा। उल्लेखनीय है श्री नर्मदानंदजी महाराज को राज्य मंत्री का दर्जा प्राप्त है तथा वे हर वर्ष होने वाली नर्मदा परिक्रमा करने वाले तीर्थ यात्रियो के लिए विश्राम करने व भोजन की व्यवस्था निःशुल्क करते है। 

त्रिवेणी महोत्सव का प्रथम सोपान यज्ञ रहेगा। जिसमें 108 कुडीय अतिरूद्र महायज्ञ के लिए 1 लाख वर्ग फीट में पांडाल बनाया गया है। 125 ब्राहा्णो के सानिध्य में 216 पंडित महायज्ञ में आहुति देंगे। इसमें 108 महिला व 108 पुरूष रहेगे। यज्ञ में आहुति के लिए गाय के घी के 108 डिब्बे सहित कुल 1620 किलो घी राजस्थान की पेथमेडा स्थित गौशाला से बुलवाया गया है। यजमानो के रूकने के लिए 20 कमरे बनाए गए है। जहां महिला, पुरू अलग अलग विश्राम कर सकेंगे। इस महोत्सव का दूसरा सोपान भागवत ज्ञान गंगा यज्ञ रहेगा। जिसके लिए अलग से पाडांल बनाया गया है। बनारस के भागवताचार्य आशुतानंद गिरी न्यास और वेदांताचार्य के मुखारविंद से भागवत कथा होगी। 

 

आयोजन स्थल पर 65 शौचालयो का निर्माण भी किया गया है। भोजन की व्यवस्था भी प्रतिदिन रहेगी। इस हेतु भोजनशाला बनाई गई है। आयोजन के प्रांगण मे ही आयुर्वेद चिकित्सा शिविर मे कोटा के डा. नित्यानंद पंडित, राजकोट के डा. भूपेंद्रसिंह ठक्कर एवं रतलाम के डा. चेतन शर्मा सेवाएं देगे। इस महायज्ञ में यज्ञशाला का निर्माण पूर्ण रूप से लकडियो, बांस की बल्ली एवं सिरकी से  किया गया है। इसकी ऊँचाई 61 फीट होकर सात मंजिला रहेगी। यज्ञ शाला में गुरू पंरमपरा के अनुसार गुरू मंदिर भी रहेगा। यह यज्ञ शाला 126 बाय 126 की रहेगी। जिसका निर्माण 15 कारीगरो की टीम ने किया है।

बदनावर पुलिस का गश्ती वाहन पलटा, 2 एएसआई समेत चार घायल। 

मनोज कवि

बदनावर। लेबड नयागांव फोरलेन पर यहां से एक किमी दूर पिटगारा तिराहे पर गुरूवार सुबह 3 बजे बदनावर पुलिस के गश्ती वाहन को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। जिससे गाडी पलट गई और उसमे सवार दो एएसआई समेत चार लोग घायल हो गए। उन्हें अस्पताल मे भर्ती कराने के बाद वाहन चालक सैनिक रामसिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई। 

 रात में हुआ हादसा-----

जिसमे बताया कि वह एएसआई एआर खान व आरसी भाभर के साथ रात मे गश्त कर रहा था तभी बडी चौपाटी पर संदेही विष्णु खदेडा निवासी पिपलिया थाना कानवन खडा दिखा। जिसकी तस्दीक करने के लिए उसके रिश्तेदार के घर ग्राम कालाभाटा जाते समय तिराहे पर पीछे रांग साईड से अज्ञात वाहन का चालक अपने वाहन को तेज गति व लापरवाही से चलाकर लाया व गाडी को टक्कर मार दी। जिससे गाडी पलटी खा गई और उसमे बैठे दोनो एएसआई, मुझे व विष्णु को चोंटे आई। उन्हें निजी वाहन से सरकारी अस्पताल मे ले जाकर भर्ती कराया। बाद मे रिपोर्ट की। गाडी नंबर एमपी 03 ए 1428 पलटी खाने से बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई। पुलिस ने अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ रिपोर्ट की। एएसआई खान के हाथ पैर व पेट मे चोंट आई। जबकि भाभर के कंधे मे व विष्णु के सीने मे अंदरूनी चोंटे आई।

मतगणना हेतु कलेक्‍टर ने ली प्रत्‍याशियों के प्रतिनिधियों की बैठक।

संजय त्यागी।

सीहोर। कलेक्‍टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी  तरुण कुमार पिथोड़े की अध्‍यक्षता में विधानसभा चुनाव लड़ रहे चारों विधानसभाओं के प्रत्‍याशियों के प्रतिनिधयों को मतगणना संबंधी आवश्‍यक जानकारियों से अवगत कराया गया। मतगणना स्‍थल पर की गई व्‍यवस्‍थाओं के अनुसार प्रत्‍याशियों एवं उनके एजेंटों के लिये रफी अहमद किदवई कृषि महाविद्यालय के पिछले गेट से प्रवेश की व्‍यवस्‍था की गई है। प्रत्‍येक विधानसभा के लिये पार्टियों द्वारा नियुक्‍त किये गये मतगणना एजेण्‍टों को सिर्फ अपने-अपने मतगणना केन्‍द्रों में ही रहना होगा। मोबाइल फोन अंदर ले जाना प्रतिबंधित रहेगा। प्रत्‍येक एजेंट को विधानसभा रिर्टनिंग अधिकारी के समक्ष आईडी प्रूफ के साथ उपस्थित होकर शपथ पत्र पर हस्‍ताक्षर करने होंगे।


कलेक्‍टर ने सभी को सूचित किया है कि अपने-अपने निर्धारित ऐजेंटों को समय-सीमा में रिर्टनिंग अधिकारी के समक्ष उपस्थित हो कर आवश्‍यक कार्यवाही पूर्ण करावें जिसमें समय पर उनके प्रवेश पत्र तैयार किये जा सके। बैठक में अपर कलेक्‍टर  विनोद कुमार चतुर्वेदी, उपजिला निर्वाचन अधिकारी  मेहताब सिंह गुर्जर उपस्थित थे।  

पैदल बात करते हुए जा रहे युवक का बाइक सवार ने मोबाइल छीना।

संजय त्यागी।

सीहोर। मोबाइल पर बात करते हुए पैदल जा रहे हैं युवक से बाइक सवार बदमाश मोबाइल छीन कर भाग गया।

पुलिस ने मामले में आवेदन लिया है। लेकिन प्रकरण दर्ज नहीं किया।

मिली जानकारी के अनुसार कल बुधवार रात 10:00 बजे बड़ा बाजार क्षेत्र में सब्जी मंडी निवासी गोविंदा त्यागी मोबाइल पर बात करते हुए पैदल जा रहे थे। तभी तेज गति से आता हुआ एक बाइक सवार बदमाश उनके हाथ से मोबाइल छीन कर तेज गति से बाइक लेकर रफू चक्कर हो गया।

जिसकी सूचना गोविंदा ने तत्काल थाना कोतवाली में दी पुलिस ने आवेदन ले लिया लेकिन प्रकरण दर्ज नहीं किया। यह एक बड़ी बात है शहर के व्यस्ततम इलाके से इस तरह से मोबाइल छीन कर भाग जाना और पुलिस का सक्रियता ना दिखाना।

गोविंदा त्यागी ने बताया की बुधवार रात 10:00 बजे मैं घूमने निकला तभी बड़ा बाजार क्षेत्र में मोबाइल पर बात कर रहा था एक बाइक सवार तेज गति से आया और मेरे हाथ से मोबाइल छीन कर तेजी से बाइक चलाता हुआ भाग गया। मैं तत्काल थाना कोतवाली पहुंचा और मैंने इसकी सूचना दी किंतु किसी तरह की कोई कार्रवाई और आश्वासन नहीं दिया और आज गुरुवार को भी दिन में दो  बार में थाना का कोतवाली पहुंचा किंतु संबंधित पुलिस अधिकारियों ने मुझे कोई भी संतोषजनक कार्यवाही का आश्वासन नहीं दिया।