Top News

गोविंद राजपूत की प्रभारी मंत्री से तहसीलदार नायब तेहसिलदार संघ ने की शिकायत ।



संजय त्यागी,

सीहोर। मध्य प्रदेश के तहसीलदार ,नायब तहसीलदार संघ गुस्से में है। दरअसल यह गुस्सा मंगलवार को राजस्व मंत्री गोविंद राजपूत द्वारा सीहोर जिले में की गई कार्रवाई व उनके आचरण के विरोध में है जिसमें मंत्री ने छापामार अंदाज में तहसीलदार कार्यालय में जाकर डायस पर बैठ कार्रवाई करते हुए तहसीलदार को निलंबित कर दिया। निलंबन से ज्यादा संघ इस बात को लेकर नाराज है कि मंत्री तहसीलदार की डायस पर जाकर बैठ गए जो एक न्यायालय का हिस्सा है और उस पर केवल न्यायाधीश के रूप में उस समय पदस्थ तहसीलदार ही बैठता है। 


तहसीलदार संघ का कहना है कि कल को यदि मंत्री को विधि विभाग के खिलाफ कोई शिकायत मिले तो क्या वे सिविल न्यायालय में जाकर इस तरह से बैठ सकते हैं। संघ का यह  भी कहना है कि वह कोई रेत माफिया नहीं है जो इस तरह से छापामार कार्रवाई की जाए और बिना किसी नोटिस के सीधे निलंबन की कार्रवाई कर दी जाए।

संघ इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी मिलने का समय मांग रहा है और उसके साथ साथ कैबिनेट के अन्य मंत्रियों से मिलकर भी इस बारे में बातचीत करेगा। 


डायस पर बैठकर मंत्री ने किया तहसीलदार को निलंबित


संघ का ये भी कहना है कि गोविंद सिंह राजपूत डायस पर पहुंच कुर्सी पर बैठे उनके साथ मौजूद स्टाफ की डायस पर ही बैठा । तहसील ऑफिस न्यायालय व्यवस्था का हिस्सा होता है।मंत्री के आचरण से न्यायालय के काम में बाधा पहुंची। वही इस पूरे मामले में हैरत की बात यह है कि मंत्री को डायस पर बैठने से मंत्री के ओएसडी कमल नागर ने नहीं रोका जो खुद राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं और भली-भांति जानते हैं।

प्रदेश के कृषि छात्र आंदोलन पर, सरकार उदासीन।

कैसे होगी किसानों की आय दोगुनी।



संजय त्यागी। 

सीहोर। पिछले 14 दिनों से मध्य प्रदेश के कृषि छात्र-छात्रा कृषि शिक्षा में निजीकरण और व्यवसायीकरण के विरोध में आंदोलन पर हैं किंतु मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार के कानों में जूं तक नहीं रेंगी।

प्रदेश के कृषि महाविद्यालय ग्वालियर, इंदौर, टीकमगढ़ , खंडवा ,मंदसौर सीहोर आदि प्रतिष्ठित कृषि महाविद्यालयों में उच्च शिक्षित छात्र छात्राएं हड़ताल पर है। जिसमें अर्धनग्न प्रदर्शन नारेबाजी तालाबंदी और गवालियर विश्वविद्यालय में तो भूख हड़ताल पर बैठे छात्र छात्राओं में से तीन की हालत बिगड़ गई जिससे वह आईसीयू में भर्ती है 



इसके बाद भी मध्य प्रदेश सरकार के कृषि मंत्री या मुख्यमंत्री का इस पर ध्यान नहीं देना चिंता का विषय है। प्रदेश के छात्र-छात्राओं के मामा शिवराज  छोटी-छोटी बातों में जनता के साथ खड़े नजर आ रहे हैं मगर इस मामले में शिवराज मामा भी चुप है हो भी क्यों नहीं क्योंकि कृषि छात्र छात्राओं ने कृषि शिक्षा के निजीकरण और व्यवसायीकरण के खिलाफ आवाज उठाई है कृषि शिक्षा के निजीकरण और व्यवसायीकरण की शुरुआत शिवराज के कार्यकाल मैं ही हुई है। हमने देखा है अन्य क्षेत्रों में शिक्षा के निजीकरण से शिक्षा का स्तर कितना गिरा है प्रदेश में कृषि शिक्षा अभी तक पूरी तरह से सरकार के अधीन चल रही थी प्रदेश के दोनों कृषि विश्वविद्यालय के अंतर्गत आने वाले 11 कृषि महाविद्यालय का आज प्रदेश में नाम है तथा  कृषि भूमि  और कृषि अनुसंधान की व्यापक सुविधाएं हैं और उनमें अध्ययन कर छात्र-छात्राएं अच्छी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। इनमें  कृषि वैज्ञानिक व कृषि विशेषज्ञ तैयार हो रहे हैं और अगर कृषि शिक्षा का व्यापक निजीकरण  हुआ तो वहां पर डिग्रियां तैयार होंगे सिर्फ और सिर्फ डिग्रियां ।

एक संवेदनशील सरकार का कर्तव्य है कि उसको होनहार छात्र-छात्राओं की बातों पर ध्यान देना चाहिए

आपको बता दे कि मध्यप्रदेश में जवाहरलाल नेहरू कृषि विश्वविद्यालय जबलपुर और राजमाता विजयराजे सिंधिया विश्वविद्यालय ग्वालियर के अधीन  11  महाविद्यालय कृषि शिक्षा में संचालित है। इन महाविद्यालयों में प्रवेश के लिए सरकार प्री एग्रीकल्चर टेस्ट परीक्षा आयोजित करती है और रैंक के आधार पर कृषि महाविद्यालयों में छात्रों को प्रवेश दिया जाता है जो कि हाई कंपीटिटिव एग्जाम माना जाता है।



छात्र-छात्राओं ने बताया कि पिछले कुछ सालों में सरकार ने कृषि शिक्षा के निजीकरण का फैसला किया है निजी विश्वविद्यालय सभी छात्रों को एडमिशन दे रहे है और पैसा लेकर डिग्रियां बांट रहे हैं।

छात्रों का कहना है कि कृषि शिक्षा में निजीकरण बंद हो और कृषि विभाग में 5000 पद रिक्त हैं उनको भरा जाए इस मांग को लेकर हम पिछले 10 दिनों से हड़ताल पर हैं। सरकार ने हमारी मांगे नहीं मानी तो प्रदर्शन और उग्र होगा।

खुश होकर बच्चे बोले, हैप्पी बर्थडे  राहुल गांधी।

सेवा दिवस के रूप में युवा कांग्रेस ने बनाया राहुल गांधी का जन्मदिन         

संजय त्यागी।                       

सीहोर/ अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी का जन्मदिवस आज सीहोर जिला युवा कांग्रेस द्वारा सेवा दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर नगर के राधेश्याम मंदिर ग्वालटोली में जरूरतमंद सेकडो विद्यार्थियों को स्कूल बैग सहित शिक्षण सामग्री का वितरण किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम में मुख्यथिति के रूप में कांग्रेस नेता हरीश राठौर , सुरेश साबू, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव गुजराती, क्षेत्रीय पार्षद राजेश यादव पार्षद, राकेश वर्मा उपस्थित थे । कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता और समाजसेवी हरीश राठौर ने संबोधित करते हुए कहा कि राहुल गांधी स्वच्छत राजनीति के पुरोधा है ओर मानव सेवा ही राजनीति का मूल उद्देश्य होना चाहिए ओर युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजीव गहराती ने कहा कि युवा कांग्रेस हमेशा जनहित में कार्य करती रही है और आज राहुल गांधी जी के जन्मदिवस के अवसर पर क्षेत्र के बच्चो के चहरे पर जो मुस्कान आई है वही राजनीति का लक्ष्य होना चाहिए। इस अवसर पर दिनेश वर्मा, गोविंद यादव, कमलेश यादव, अभिषेक त्यागी,  गोविंद मीना, जितेंद्र यादव, देवेंद्र ठाकुर, तुलसी राठौर, मुकेश ठाकुर, सर्वेश व्यास, नायाब खान, गजराज परमार, राहुल गोस्वामी, मनीष मेवाड़ा, यश यादव, विजय परमार, तरुण यादव, अनिल सेन, अनुभव सेन, राजेन्द्र नागर, अभिजीत यादव, ब्रजेश पाटीदार, हरगोविंद यादव, बंटी यादव, विकास यादव,  विनोद यादव, मनीष यादव, रोहन यादव, राहुल यादव, शुभम यादव, आदि उवेस्थित थे।

अब 'पानी का अधिकार' कानून लागू करेगी कमलनाथ सरकार, हर व्यक्ति को मिलेगा इतने लीटर

 

Jun 01 , 2019

संजय त्यागी

सीहोर। प्रदेश में दिनों दिन जल संकट गहराता जा रहा है। कई जगह सूखे के हालत बने हुए है।इस बार भी भीषण गर्मा के कारण लोगों तक पानी नही पहुंच पा रहा है, चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है, ऐसे में  आने वाले समय में स्थिति और भयावह ना हो इसके लिए राज्य की कमलनाथ सरकार नया फॉर्मूला लाने जा रही है।खबर है कि प्रदेश की कमलनाथ सरकार  'पानी का अधिकार' कानून लागू करने जा रही है। इसके तहत पूरे साल एक परिवार को जरूरत के मुताबिक यानि हर नागरिक को प्रति व्यक्ति 55 लीटर पानी का अधिकार दिया जायेगा।

सीएम कमलनाथ ने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके लिए पंचवर्षीय योजना तैयार की जाएगी। उसके बाद इसे लागू किया जाएगा।इस बार मे ज्यादा जानकारी देते हुए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री सुखदेव पांसे ने बताया कि इसे पूरा करने के लिए कार्ययोजना बनाई जा रही है। आम लोगों को पानी के लिए परेशान न होना पड़े, इस मकसद से राज्य में 'पानी का अधिकार' कानून लागू किया जा रहा है। यह लागू हो जाने से एक परिवार और व्यक्ति को उसकी जरूरत के मुताबिक पानी जरूरी तौर पर उपलब्ध कराया जाएगा।

मंत्री ने कहा कि देश में जिस तरह सूचना हासिल करने के लिए सूचना का अधिकार, गरीबों को शिक्षा की सुनिश्चित करने के लिए शिक्षा का अधिकार, रोजगार की गारंटी के लिए मनरेगा और भोजन का अधिकार लागू हैं, उसी तरह हर परिवार को पानी की सुविधा दिलाने के लिए पानी का अधिकार लागू किया जाने वाला है। राज्य सरकार की मंशा है कि हर घर तक नल का पानी पहुंचे। इसको ध्यान में रखते हुए नल-जल योजना भी बनाई जाएगी। इसके लिए नाबार्ड और एशियन बैंक से वित्तीय मदद ली जाएगी।

बता दे कि इस अधिकार के तहत प्रदेश के हर नागरिक को प्रति व्यक्ति 55 लीटर पानी का अधिकार दिया जाएगा। यानि हर व्यक्ति को कम से कम 55 लीटर पानी ज़रूर मिलेगा। केंद्र में अभी प्रति व्यक्ति 40 लीटर पानी देने का प्रावधान है। वही देश के नागरिकों को पानी की सुविधा उपलब्ध कराए जाने के मामले में मध्यप्रदेश की बात करे तो इसका स्थान 17वां है। जबकी हमारे राज्य से बेहतर स्थिति सिक्किम, गुजरात आदि की है, ये हमसे आगे है। इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने ये अधिकार देने की बात कही है।सरकार को पूरी उम्मीद है कि ऐसा करके प्रदेश में मंडराते जल संकट को दूर किया जा सकेगा।

मध्‍यप्रदेश में बड़े पैमाने पर आईएएस अफसरों के तबादले, शहडोल कमिश्‍नर को हटाया।

मनोज कवि

भोपाल। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता समाप्‍त होने ही मध्‍यप्रदेश सरकार ने सोमवार रात बड़े पैमाने पर आईएएस अधिकारियों के तबादले कर दिए।

सामान्‍य प्रशासन विभाग ने अधिकारियों की तबादला सूची जारी की है। सरकार ने शहडोल कमिश्नर शोभित जैन को हटा दिया है। शोभित जैन ने शहडोल कलेक्टर ललित दाहिमा के खिलाफ रिपोर्ट दी थी जिसके चलते चुनाव आयोग ने उन्हें हटा दिया था

वहीं जबलपुर कलेक्टर छवि भारद्वाज को भी हटा दिया गया है। छिंदवाड़ा कलेक्टर भरत यादव को जबलपुर का नया कलेक्टर बनाया गया है। पन्ना के कलेक्टर मनोज खत्री को हटाकर मंत्रालय में उप सचिव बनाया है जबकि ग्वालियर के कमिश्नर महेश चंद्र चौधरी को राजस्व मंडल भेजा गया है। चंबल संभाग के कमिश्नर एमके अग्रवाल को आयुक्त सहकारी संस्थाएं बनाया है।

कांग्रेस प्रत्याशी दिनेश गिरवाल ने मनावर का दौरा किया

पन्नालाल गेहलोत। 

मनावर। धार महू लोकसभा क्षेत्र के कांग्रेस प्रत्याशी  दिनेश गिरवाल ने आज मनावर क्षेत्र का दौरा किया। श्री गिरवाल ने यहाँ पहुंचकर कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। बाद में मनावर में हनुमान जयंती पर चल रहे भंडारे के कार्यक्रम में शामिल हुए। जहा पर कांग्रेस नेता ओम सोलंकी, निरंजन डावर,  राजेश पंवार, हरीश खण्डेलवाल, दिनेश ठाकुर, नवीन कर्णिक, सिराज मंसूरी, किरण मण्डलोई, लक्ष्मी जाट, निधि जाट, विनोद डोंगले, माधव गहलोत, सुनील टाइगर, नाथू सरपंच, जितेंद्र मुकाती, महेंद्र पार्षद, स्वतन्त्र जोशी, सतपाल सिंह, विनोद राठौर, जर्मनसिंह पंजाबी, कुलदीप गायकवाड़, दुलीचंद पाटीदार, रविन पाटीदार, आदि ने स्वागत किया। गिरवाल ने कई गांवों का दौरा किया व कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की। विधायक हीरालाल अलावा भी गिरवाल के साथ थे।