संजय त्यागी।
सीहोर। सीहोर सहित प्रदेश में 15 जनवरी से मीजल्स रूबेला टीकाकरण अभियान प्रारंभ होगा। मीजल्स या खसरा बच्चों में होने वाली एक संक्रामक बीमारी है। जो वायरस जनित है इसी तरह रूबेला भी एक वायरस जनित रोग है जिससे बच्चों में जन्मजात विकृतियों होने की आशंका रहती है रूबेला से संक्रमित माता से जन्मे बच्चे में दीर्घकालिक जन्मजात विसंगतियों से पीड़ित होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं।




स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार जिले की प्राथमिक शाला माध्यमिक शाला व हाई स्कूलों तथा मदरसों को मिजल्स रूबेला अभियान में शामिल किया गया है। जिले के प्राइवेट स्कूलों में प्राथमिक माध्यमिक व हाई स्कूलों में अध्ययनरत छात्रों को भी अभियान के अंतर्गत टीका कृत किया जाएगा।
सीएमएचओ डॉ प्रभाकर तिवारी ने बताया कि 15 वर्ष तक के दसवीं कक्षा तक के पंजीकृत 1,33,239 बच्चों को मीजल्स रूबेला अभियान के अंतर्गत लाभान्वित किया जाएगा
अभियान के अंतर्गत आंगनवाड़ी मिनी आंगनवाड़ी में पंजीकृत बच्चों को भी सेवाएं दी जाए जिले की 1211 आंगनवाड़ी तथा 204 मिनी आंगनवाड़ी में पंजीकृत बच्चे लाभान्वित होंगे जिले में संचालित इन आंगनवाड़ियों में 9 माह से 6 वर्ष तक करीब 1,35,543 बच्चों को टीकाकरण किया जाएगा।
इस तरह मीजल्स रूबेला अभियान के अंतर्गत 9 माह से 15 वर्ष तक के लगभग 4 लाख 12 हजार 764 बच्चों को टीकाकृत किया जायेगा। इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग ने आज ट्रामा सेंटर सीहोर में मीडिया कार्यशाला आयोजित की जिसमें सीएमएचओ डॉ प्रभाकर तिवारी एवं सिविल सर्जन डा भरतार और जिला जनसंपर्क अधिकारी अनुभा सिंह सहित जिले के पत्रकार उपस्थित रहे।
Share To:

Post A Comment:

0 comments so far,add yours